khujli ke ayurvedic upay

Khaj khujli ke Best Ayurvedic Upay

Upchar
Khaj khujli ke ayurvedic upay-खाज खुजली के आयुर्वेदिक उपाय

 

 
ClickGujarat.in
खाज खुजली के आयुर्वेदिक उपाय

Khujli ke ayurvedic upay :

1.तुलसी की पत्तियों को नींबू के रस में पीसकर लगाने से दाद-खाज मिट जाती है।

 2.दाद-खाज पर पुदीने का रस लगाने से लाभ होता है।

3.नींबू के रस में इमली की गुठली घिसकर लगाने से खाज व दाद में लाभ होता है।

 4.नीम घरेलू वैद्य है इसकी 5 पत्तियाँ ,7 काली मिर्च पीसकर छानकर प्रतिदिन7 से 15 दिन पीने से फोड़े फुंसी दाद खाज दूर हो जाते हैं।

5.नीम की अन्तर्छाल को पानी में घिस कर मक्खन मिलाकर लगाने से त्वचा रोगों में बहुत लाभ होता है।

 6.त्वचा के रोगों का सही व सुगम्य उपचार केवल आयुर्वेद में ही है।इन रोगो का इलाज समय रहते व योग्य वैद्य के मार्गदर्शन में अवश्य ही समय रहते करा लेना चाहिये।इन रोगों को सामान्य रोग नही समझना चाहिये नही तो ये असाध्य हो सकते हैं

7.चर्म रोग में रोज बथुआ उबालकर निचोड़कर इसका रस पीएं और सब्जी खाएं।

 

8.खुजली (khujli) के लिए कागजी नीबू का रस, नारियल तेल में मिलाकर लगाने से खुजली दाद व पामा में फायदा होता है।

 

9.खुजली- khujli यदि सूखी हो तो -बाकुची 12ग्रा., आँवलसार गंधक 12 ग्रा. तूतिया 3 ग्रा. अलग -अलग कूट लें जरुरत के समय सारे सामान को 100 ग्रा. सरसों के तेल में डाल कर शरीर पर लगाएं। 2-3 घण्टे बाद नीम के साबुन से नहा लेना चाहिए।गीली खुजली में देवदार का तेल लगाना चाहिए।

 

 
Share

1 thought on “Khaj khujli ke Best Ayurvedic Upay

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *